Best

शिलाजीत के सेवन से आ सकती है आपकी जिंदगी में खुशियाँ


शिलाजीत के सेवन से आ सकती है आपकी जिंदगी में खुशियाँ 
स्वाद में शिलाजीत काफी कड़वा, कसैला, उष्ण और वीर्य पोषण करने वाला होता है। देखने में यह तारकोल की तरह बेहद काला और गाढ़ा होता है जो सूखने के बाद एकदम चमकीला रूप ले लेता है।

इसके सेवन के न केवल सेक्स पॉवर बढ़ती है वरन इसके शरीर पर कई अन्य प्रभाव भी होते हैं जिनकी सहायता से बुढापा भी दूर रहता है।

मधुमेह, स्वप्नदोष, यौन दुर्बलता, शारीरिक दुर्बलता दूर करने के लिए शिलाजीत का प्रयोग उत्तम माना जा सकता है।

शिलाजीत के प्रकार
शिलाजीत के चार प्रकार होते हैं- रजत, स्वर्ण, लौह और ताम्र। हर प्रकार की शिलाजीत के गुण व लाभ अलग-अलग हैं।

रजत शिलाजीत पित्त तथा कफ के विकारों को खत्म करता है।
स्वर्ण शिलाजीत वात और पित्तजनित बीमारियों के लिए असरदार है।
लौह तथा ताम्र शिलाजीत कफ से हुए रोगों के इलाज के लिए कारगर दवा है।
आइये जाने कैसे शिलाजीत दे सकता है आपको खुशियां

उम्र घटाए
उच्च ऊर्जा और जैव उत्पादक गुणों से भरी शीलाजित नई कोशिकाओं को दुबारा बनाती है और पुरानी कोशिकाओं को मेंटेन करती है, जिससे उम्र कम लगती है।

दिल के सेहत का भी रखता ख्याल
शिलाजीत दिल के सेहत के लिए भी अच्छा है। दिल के साथ-साथ यह रक्त चाप को भी नियंत्रित करता है।

पाचनतंत्र के लिए
शिलाजीत शरीर के पाचन तंत्र को भी मजबूत करता है। इसके सेवन से अपच, गैस, कब्ज और पेट के दर्द जैसी बिमारियां खत्म होती हैं।

शरीर की सूजन मिटाए
यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य को बना सकती है। अगर आपके शरीर में दर्द, सूजन या गठिया रोग है तो, शिलाजीत को रोजाना प्रयोग करें।


ऊजा बढ़ाए
शिलजीत के सेवन से शरीर में तुरंत ही ऊर्जा आती है। इससे प्रोटीन और विटामिन ज्‍यादा मात्रा में मिलता है।

किडनी और अंत:स्राव ग्रंथि
शिलाजीत के सेवन से किडनी, पैनक्रियाज और थायराइड ग्लैंड भी सही से काम करते हैं। यह ब्लड सर्कुलेशन के लिए भी अच्छा है।

मधुमेह ठीक करे
अच्‍छी डाइट और शिलाजीत का नियमित सेवन ब्‍लड शुगर लेवल को बैलेंस कर के मधुमेह को कंट्रोल करता है।

दिमाग की शक्ति बढाए
ये तनाव , थकान को मिटा कर नर्वस सिस्टम को मज़बूत बनाती है। यह याददाश्त को तेज बनाती है और ध्‍यान को केन्‍द्रित करने में मदद करती है।

तनाव दूर करे
यह तनाव पैदा करने वाले हार्मोन को बैलेंस करती है और शरीर तथा दिमाग को शांत और स्‍वस्‍थ बनाती है।

एंटी एजिंग
शिलाजीत के सेवन से एजिंग की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। अगर आप समय से पहले बूढ़े या थके-थके नजर आ रहे हैं तो शिलाजीत का सेवन करें। इसमें 85 फीसदी से ज्यादा मिनरल्स पाए जाते हैं जो बिमारियों को दूर भगाते हैं और रोग प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत करते हैं। यह हड्डियों में कैल्शियम बनाकर हड्डियों को मजबूत बनाती है।

पुरुष यौन शक्ति में वृद्धि
शिलाजीत पुरुष प्रजनन प्रणाली और कामेच्छा को बढ़ाती है। यह नपुंसकता और प्रीमिच्‍योर इजैक्‍यूलेशन की समस्‍या को दूर करती है।
हड्डियों की बीमारी दूर करे: यह हमारी हड्डियों में मजबूती भरती है और गठिया तथा जोड़ों आदि के दर्द से राहत दिलाती है।

रक्‍त शुद्धी
यह नसों में खून के सर्कुलेशन को बढाती है और बीमारी को दूर रखने में मदद करती है।

शिलाजीत के सेवन में बरते सावधानियां
शिलाजीत का सेवन दूध और शहद के साथ सुबह सूयोर्दय से पहले कर लेना चाहिए। इसके ठीक प्रकार पाचन के बाद अर्थात तीन-चार घंटे के बाद ही भोजन करना चाहिए।

गठिया
जो मरीज गंभीर गठिया से ग्रस्त हों उन्हें शिलाजजीत सेवन से बचना चाहिए। ऐसे मरीजों को शिलाजीत के सेवन से खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने का खतरा रहता है।

गर्भावस्था
गर्भवती और स्तनपान कराने वाली औरतों को भी इसके सेवन से परहेज करना चाहिए।

एलर्जी
कभी-कभी शिलाजीत के सेवन से एलर्जी, दिल की धड़कन तेज और उल्टी भी होती है।

>>उपवास के फायदे (Health Benefits of Fasting)

>>यह पौधा पेट की लटकती चर्बी, मोटापा, गंजापन, किडनी आदि 20 रोगों के लिए किसी वरदान से कम नही

>>पेट की चर्बी घटाने के लिए बेहतरीन उपाय

कोई टिप्पणी नहीं:

fpm के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.

Don't miss our update

Subscribe here to get our newsletter